Weekly Current Affairs: 30 March to 4th April 2020 - साप्ताहिक करेंट अफेयर्स

टॉप-10 साप्ताहिक करेंट अफेयर्स घटनाक्रम: 30 मार्च से 04 अप्रैल 2020

Top 10 Weekly Current Affairs - इसमें मुख्य रूप से –2021 Asian Youth Games और Defence Research and Development Organisation (रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन)  शामिल हैं.

Weekly Current Affairs

Weekly Current Affairs


1.चीन को मिली एशियाई युवा खेल 2021 की मेजबानी, जानें इनके बारे में सबकुछ

चीन के वुहान से ही कोरोना वायरस महामारी की शुरूआत हुई जो यूरोप, अमेरिका और एशिया में फैली. इसकी वजह से टोक्यो ओलंपिक एक साल के लिये स्थगित करने पड़े. एशियाई ओलंपिक परिषद (ओसीए) ने एशियाई युवा खेल 20 नवंबर से 28 नवंबर तक कराने का फैसला किया है.

कोरोनावायरस के चलते पूरी दुनिया में अब तक 50 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 10 लाख से अधिक लोग इससे संक्रमित हैं. भारत में संक्रमित मरीजों की संख्या 2700 के करीब पहुंच गई है वहीं इससे मरने वालों का आंकड़ा 60 को पार कर गया है.



2.डीआरडीओ ने सीम सीलिंग ग्लू के साथ जैविक सूट विकसित किया

डीआरडीओ के विभिन्न प्रयोगशालाओं के वैज्ञानिकों ने अपने इसके लिए अपने तकनीकी ज्ञान का उपयोग किया है- कि कैसे व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई) को विकसित करने के लिए टेक्सटाइल, कोटिंग और नैनोटेक्नोलाजी की दक्षता का उपयोग किया जाए, जिसमें कोटिंग के साथ विशिष्ट प्रकार के कपड़े शामिल हों.

यह उद्योग बड़ी मात्रा में सूट उत्पादन के लिए तैयार है. मेसर्स कुसुमगढ़ इंडस्ट्रीज कच्चे माल और कोटिंग सामग्री का उत्पादन कर रही है, और पूरे सूट का निर्माण दूसरे विक्रेता की सहायता से किया जा रहा है. वर्तमान समय में उत्पादन क्षमता प्रतिदिन 7,000 सूट है.


3.प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना वायरस पर वीडियो संदेश जारी किया, लोगों को दिया यह सलाह

कोरोना वायरस महामारी के बीच देश में चल रहे लॉकडाउन पर प्रधानमंत्री मोदी लगाता नजर बनाए हुए हैं. कोरोना वायरस से लड़ रहे देश के लोगों को प्रधानमंत्री मोदी ने एक वीडियो संदेश दिया. प्रधानमंत्री ने सुबह 9 बजे लोगों के साथ एक वीडियो संदेश साझा किया. इस चुनौतीपूर्ण समय में ये भाव प्रकट हुआ है कि देश एक होकर इस महामारी का सामना कर सकता है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि इस 5 अप्रैल को हमें, 130 करोड़ देशवासियों की महाशक्ति का जागरण करना है. उन्होंने कहा कि इस दौरान घर की सभी लाइटें बंद करके, घर के दरवाजे पर या बालकनी में खड़े रहकर 9 मिनट के लिए मोमबत्ती, दीया, टॉर्च या मोबाइल की फ्लैशलाइट जलाएं.


4.सरकार ने लॉन्च किया ‘Aarogya Setu’ मोबाइल ऐप

सरकार का मुख्य उद्देश्य इस ऐप के जरिए यूजर्स की मदद करना है ताकि वे यह जान सकें कि क्या वे कोरोना से संक्रमित मरीजों के संपर्क में आए हैं या नहीं. यूजर्स के स्मार्टफोन के लोकेशन डाटा और ब्लूटूथ के इस्तेमाल से संक्रमण का पता लगाया जाएगा. सरकार इससे पहले भी ‘Corona Kavach App’ नाम के मोबाइल एप को पेश कर चुकी है.
आरोग्य सेतु ऐप में कई और फीचर भी दिए गए हैं. इसमें दिए गए चैटबॉच की सहायता से आप कोरोना वायरस के लक्षण को पहचान सकते हैं. यह ऐप हेल्थ मिनिस्ट्री के अपडेटस और भारत के हर राज्यों के कोरोना वायरस हेल्प लाइन नंबर की सूची भी देता है.इसके अतिरिक्त आरोग्य सेतु ऐप यूजर को खुद को महामारी से बचाने के टिप्स भी देती है.


5.नासा ने सनराइज़ मिशन की घोषणा की, जानें इसके बारे में सबकुछ

इस मिशन का उद्देश्य वैज्ञानिकों को सौर मंडल के कामकाज को समझने में भी मदद करना है. यह भविष्य में चंद्रमा और मंगल पर जाने वाले अंतरिक्ष यात्रियों को सौर तूफान से बचाने में भी मदद करेगा. यह मिशन 1 जुलाई, 2023 को शुरू होने की उम्मीद जताई जा रही है.

सूर्य के बारे में अधिक जानकारी जुटाने के साथ यह भी पता लगाना कि सूर्य कैसे अंतरिक्ष में मौसम की घटनाओं को प्रभावित करता है. इससे अंतरिक्ष यात्रियों और अंतरिक्ष यान पर अंतरिक्ष के मौसम के प्रभावों को कम करना आसान होगा. सनराइज़ मिशन में छह क्यूबसैट्स लगे होंगे जो एक बहुत बड़ी रेडियो दूरबीन के तौर पर काम करेंगे.



6.द्वितीय विश्व युद्ध के बाद से कोविड-19 महामारी सबसे बड़ी चुनौती: संयुक्त राष्ट्र

संयुक्त राष्ट्र के अनुसार यह भीषण वैश्विक संकट है क्योंकि यह एक संयोजन है, एक ओर एक बीमारी है जो पूरी दुनिया में हर किसी के लिए खतरा है और दूसरी ओर इसके आर्थिक प्रभाव हैं जिससे मंदी आएगी और ऐसी मंदी आएगी कि हालिया इतिहास में उसकी कोई मिसाल नहीं देखी गई होगी.

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने कहा कि इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए मामलों की जांच क्षमता बढ़ाने, प्रभावितों का पता लगाने, उन्हें अलग थलग रखने और लोगों की आवाजाही को सीमित किए जाने की तत्काल जरूरत है. उन्होंने इस दिशा में त्वरित समन्वित स्वास्थ्य प्रतिक्रिया की जरूरत बतायी ताकि संक्रमण के प्रसार को काबू करने के साथ ही इस महामारी को खत्म किया जा सके.


7.भारत में फंसे विदेशी पर्यटकों की सहायता हेतु ‘स्ट्रैंडेड इन इंडिया’ पोर्टल का शुभारम्भ

पूरी दुनिया कोरोना वायरस के चलते अचानक पैदा हुए हालात का सामना कर रही है और यह पर्यटकों विशेषकर दूसरे देशों से घूमने आए पर्यटकों की बेहतरी सुनिश्चित करने की दिशा में किया गया एक अहम प्रयास है. इस क्रम में पर्यटन मंत्रालय लगातार सतर्क बना हुआ है और पर्यटकों की जरूरतों के आधार पर सहायता के लिए विभिन्न पहलों को प्रोत्साहित कर रहा है.

विश्वभर में कोरोना वायरस एक महामारी का रूप ले चुकी है, जिसके चलते भारत समेत सभी देशों ने इंटरनेशनल हवाई यात्राओं पर प्रतिबंध लगा दिया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोनो वायरस के प्रसार को रोकने हेतु 24 मार्च को 21 दिनों के लिए देशव्यापी लॉकडाउन की घोषणा की थी.


8.अमेरिकी सरकार का बड़ा फैसला, ईरान पर बढ़ाएगा परमाणु प्रतिबंध

अमेरिकी विदेशी मंत्रालय के अनुसार, ईरान को परमाणु हथियार रखने की अनुमति कभी नहीं दी जाएगी. प्रतिबंधों का मुख्य उद्देश्य ईरान को परमाणु हथियार बनाने से रोकना है. इसके साथ ही तेहरान के लिए न्यूक्लियर हथियार बनाना मुश्किल होगा. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि ईरान को परमाणु हथियार रखने की अनुमति कभी नहीं दी जाएगी.

अमेरिका ने साल 2018 में ईरान न्यूक्लियर डील रद्द करके प्रतिबंध लगा दिए थे .अमेरिका और ईरान के बीच लंबे समय से तनाव का माहौल है. अमेरिका ने बीते दिनों एक मिसाइल हमले में ईरान के बड़े कमांडर को मार गिराया था, जिसके बाद दोनों ओर से हथियारों का इस्तेमाल हुआ.



9.झारखंड सरकार ने ई-पास के लिए मोबाइल ऐप ‘प्रगयाम’ शुरू किया

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने 30 मार्च 2020 को इस ऐप को लॉन्च किया. एंड्रोएड प्‍लेटफॉर्म पर चलने वाला और स्‍थानीय तौर पर डिजाइन किया गया है. यह PRAGYAAM ऐप गुगल प्‍ले स्‍टोर से डाउनलोड किया जा सकता है. जिला यातायात अधिकारी इस ऐप पर अपलोड किए गए दस्‍तावेजों की जांच के बाद गाडि़यों को ऑनलाइन ई-पास जारी कर सकते हैं.

यह ऐप 21 दिन की लॉकडाउन अवधि के दौरान आवश्यक सेवाओं के सुचारू संचालन को सुनिश्चित करने में मदद करेगा. यह ऐप फर्जी पास जारी करने से बचने तथा व्यक्ति के विवरण को सत्यापित करने में संबंधित अधिकारियों को समर्थन करने में भी मदद करेगा.



10.पूर्वी एशिया में बढ़ेगी गरीबी, चीन के आर्थिक विकास भी हो सकता है धीमा: विश्व बैंक

विश्व बैंक ने 30 मार्च 2020 को जारी एक रिपोर्ट में यह आंशका व्यक्त की है. रिपोर्ट में कहा गया है कि क्षेत्र में इस वर्ष विकास की रफ्तार 2.1 प्रतिशत रह सकती है जो 2019 में 5.8 प्रतिशत थी. रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि कोरोना महामारी से चीन के आर्थिक विकास पर ग्रहण लग सकता है.

रिपोर्ट के मुताबिक, वैश्विक महामारी ऐसी संक्रामक बीमारी के लिए उपयोग में लाया जाता है, जिसके खतरे का एक ही समय में विश्वभर के लोग सामना कर रहे होते हैं. यह तब फैलती है जब कोई नया वायरस आसानी से लोगों को संक्रमित कर ले और एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में इंफेक्शन फैलने लगे.

Post a Comment

0 Comments